piyush kaviraj

feelings and musings…


Leave a comment

ज़िन्दगी ही तो है.. जी लेंगे


ज़िन्दगी ही तो है..
जी लेंगे
कभी पानी की तरह,
कभी ज़हर की तरह
कभी गुस्से के दो घूँट
कभी जाम के दो बूँद,
पी लेंगे.

ज़िन्दगी ही तो है..
जी लेंगे
© पीयूष कविराज

Advertisements
Advertisements
%d bloggers like this: